slide3-bg
slide-bg
slide-bg



img

संबोधि धाम

सत्संग, साधना और सेवा का अंतर्राष्ट्रीय केंद्र एवं दिव्य तीर्थ है संम्बोधि धाम जहाँ प्रतिवर्ष 36 कौम के हजारों श्रद्धालू पहुंचते है और अपने घर जैसा प्यार, मिठास और आनंद पाते है । संबोधि धाम धरती की ऐसी धरा है जहाँ इंसान जीते -जी स्वर्ग का अहसास करता है। यहां न तो पंथ का आग्रह है, न जाति का, यहां महत्त्व हैं एकमात्र मानव का, मानवता का । भला जहाँ से सारी मानवजाति को प्रेम , शांति, अहिंसा और भाईचारे का सन्देश सिखने को मिलता है, वहां किसी तरह की संकीर्ण सोच कैसे हो सकती है। संबोधि धाम का आँचल सारे जहाँ के लिये खुला है। यहां आपको भगवान श्री महावीर की साधना, बुध का मध्यम मार्ग, श्री राम की मर्यादा और भगवान श्री कृष्ण का कर्मयोग एक साथ साकार होता हुआ नज़र आएगा।

Read More


गुरुदेव श्री

Who We Are

श्री चन्द्रप्रभ सागर जी म.

श्री चन्द्रप्रभ वर्तमान युग के महान जीवनदृष्ट्रा संत हैं। उनका जीवन प्रेम, प्रज्ञा, सरलता और साधना से ओतप्रोत है। वे न केवल मिठास भरा जीवन जीने की प्रेरणा देते हैं वरन् अपने जीवन में भी मिठास और माधुर्य घोले रखते हैं।

Read More
buddha-4

पूज्यपाद बापजी साहब गणिवर श्री महिमाप्रभ सागर जी म.

जिन्होंने गाँव-गाँव और नगर-नगर में प्रेम, शांति, सेवा और भक्ति की अलख जगाते हुए मानवता की सेवा के लिए अपना दिव्य जीवन समर्पित कर दिया।

Read More
buddha-4

श्री ललितप्रभ सागर जी म.

महोपाध्याय श्री ललितप्रभ सागर जी धरती के वे अद्भुत और अनूठे संत हैं जिन्होंने अपने जीवन और जादुई प्रवचनों से जन-जन के हृदय को चमत्कृत किया है। उनके जीवन की सरसता और सरलता दिल को छू लेने वाली है।

Read More
Our Letest

Social Programs

देश के महान प्रवचनकार राष्ट्र-संत महोपाध्याय श्री ललितप्रभ सागर जी

हमें ऊपर वाले की रजा में सदा राजी रहना चाहिए। भगवान हमें वह सब कुछ नहीं दे सकता जो हमें पसंद हो। हमारे सुख का राज यही है कि जो उसने हमें दिया है, हम उसे पसंद करें।

More Videos
Our Lifestyle

Features